.

::जानें ज्योतिष

पर्वकाल निर्णय-

पर्वकाल निर्णय- किस पर्व को किस दिन मनाना चाहिए यह एक समस्या का विषय रहा है।...

भयात भभोग साधन-

भयात भभोग साधन के लिए सर्वप्रथम आपको जन्म नक्षत्र तथा इष्टकाल को साधित करना...

विवाह में अष्टकूट का महत्व-

भकूट दोष -भकूट दोष को राशि कूट दोष भी कहा जाता है। यह तीन प्रकार का होता है।...

ग्रहण योग –

ग्रहण योग - कुण्डली में ग्रहण योग एक प्रकार का प्राकृतिक योग है। इस योग का...

मंगल दोष और विवाह –

लग्ने व्यये च पाताले जामित्रे चाष्टमे कुुजे। कन्या भर्तृ विनाशाय वरः...

क्या मांगलिक दोष 28 वर्ष के बाद समाप्त हो जाता है?

क्या मांगलिक दोष 28 वर्ष के बाद समाप्त हो जाता है? आजकल यह बात अधिक  सुनने में आ...

ज्योतिष सीखिये -योग

अचानक धन प्राप्ति का योग - यदि पंचमेश बली होकर केन्द्र त्रिकोणआदि में शुभ...

ग्रहों की कारक स्थिति –

ग्रहों की कारक स्थिति -प्रत्येक ग्रह किन किन स्थितियों के कारक हैं । सूर्य -...